Lokesh Shrivastav l May 2,2020

कोविड-19 महामारी के खिलाफ जारी जंग में बड़े-बड़े कॉरपोरेट संस्थानों से लेकर सभी वर्गों के नागरिक भी अपनी-अपनी हैसियत के हिसाब से देश के प्रधानमंत्री और अपने-अपने राज्यों के मुख्यमंत्रियों द्वारा स्थापित राहत कोष के लिए बड़ी उदारता के साथ धनराशि दे रहे हैं। ऐसे में मात्र 642 रुपए की एक ऐसी ही मदद सबके लिए प्रेरणा का स्रोत बन गई है।

यह धनराशि सिक्किम के मुख्यमंत्री राहत कोष में दी गई। जिसे मुख्यमंत्री ने खुद व्यक्तिगत रूप से प्राप्त किया और दानकर्ता की ओर से सिक्किम के लोकसभा सदस्य इन्द्र हैंग सुब्बा ने स्वयं उन्हें सौंपा । धनराशि को स्वीकार करते हुए मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने भावुक शब्दों में इसे एक “ऐतिहासिक पल” बताया।

दरअसल यह सहायता दी है दक्षिणी सिक्किम की निवासी सिद्धि शर्मा ने। जिसकी उम्र है मात्र 5 वर्ष! यह उसकी अभी की पूरी जमा पूंजी थी। जिसे उसने अपने गुल्लक में रेज़गारी डाल-डाल कर पिछले कई महीनों के दौरान जुटाया था। मुख्यमंत्री ने इसे राज्य की सबसे कम उम्र नागरिक द्वारा दी गई मदद बताते हुए भावुक शब्दों में उसके हृदय के प्रेम और समर्पण भाव की तारीफ की।

सच बात तो यह है कि सिक्किम के छोटे-छोटे बच्चे कोरोना वायरस महामारी और इससे बचाव के उपायों के प्रति काफी सजग दिख रहे हैं। राज्य में घरों में ही नहीं बल्कि घर से बाहर और सड़कों पर छोटे-छोटे बच्चों द्वारा एहतियात बरतने में जो सजगता दिखाई जा रही है, उससे भी पूरे देश को सबक सीखना चाहिए।