Author: Smita Sinha

वैश्विक महामारी के दौर में बापू की प्रासंगिकता

लॉकडॉउन यानी ‘ठहरने की चेतावनी’ हमें सोचने को मजबूर कर रही हैं कि हम अपने आसपास ही रहें, उसे ही सुंदर बनाएं और बापू की बातों की गहराई को इस संदर्भ में समझे।

Read More

पीढ़ियों की डिस्टेंसिंग पाटते गुमनाम योद्धा

महामारी के इस दौर में सरकारी निर्देश का पालन करते हुए कई एनजीओ लगातार वंचित लोगों की मदद कर रहे हैं। दरअसल, इन संस्थाओं का चुपचाप प्रयास पीढ़ियों के डिस्टेंसिंग को मिटाने का प्रयास है जो कल भी रहा है और आज भी है ।

Read More

वह हमारे दिलों का मजनूं था

आज अभिनेता ऋषि कपूर हमारे बीच नहीं रहे , लगा जैसे, हमारे भीतर प्रेम का एक सोत्र सूख गया जो हमारी जिंदगी को नम करता रहा था। जनसाधारण के शुष्क और संघर्षशील जीवन में प्रेम के सपने बचाए रखने वाले ऋषि कपूर आज महायात्रा पर निकल चुके हैं, बस अब, हमारे हिस्से उनकी तस्वीरें और किरदार की छवि बची है।

Read More

कोविड-19 के नायकों को सुरों की सलामी

डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्राप्त डॉक्टर सिद्धार्थ मुखर्जी सिद्ध वीणा पर एक प्यारी सी धुन बजा रहे हैं। यह सुंदर धुन उम्मीद जगा रही है और कोरोनावायरस से लड़ाई में सबसे आगे खड़े कार्यकर्ताओं को सलाम कर रही है।

Read More

चले भी आओ कि गुलशन का कारोबार चले

अभिनेता इरफान खान को चाहने वाले हर दिल की आज यही आरजू है , बावजूद इस इल्म के, कि अब वे इस दुनिया से रुखसत ले चुके हैं ।इस वक्त, प्रशंसकों की नम आंखों के आगे इरफान जिंदगी के कई किरदार का रूप लिए गुजर रहे होंगे।

Read More

Recent Videos

Loading...